तेरी माफी भी नई अब वो जो इस दिल की मुराद है,
जखम तो हरा है यारो, व्क़्त भर देगा,
जख्म भरे ना भरे निशान तो रह ही जाएगा.

#faiz