मेरी आंखों में रहती तस्वीर हो तुम,

मेरे पूरे जीवन की तकदीर हो तुम,

जिसकी वजह से जिंदा हु में,

हाथों में छुपी हुई वो लकीर हो तुम...