खैरात में मिली हुई खुशी हमे पसंद नही है,

क्यूंकि हम गम में भी नवाब की तरह जीते है